स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त शायरी ⛳ independence day shayari

15 august 1947 Day of Indian Independence now we are sharing independence day shayari

भारत 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ और आज दुनिया में सबसे बड़ा लोकतन्त्र है इस वर्ष आजादी के इस दिन को खास बनाते हैं आईये मिलकर देशभक्ति की मिसाल खड़ी करते हैं।स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त शायरी ⛳ independence day shayari

Independence day shayari in Hindi

देशभक्तों से ही देश की शान है,
देशभक्तों से ही देश की शान है,
हम उस देश के फूल हैं यारो
जिस देश का नाम हिंदुस्तान है..

दिल दिया है, जान भी देंगे, ऐ वतन तेरे लिए

वतन पर जो फिदा होगा, अमर वो हर नौजवान होगा,
रहेगी जब तक दुनिया ये, अफसाना उसका बयाँ होगा।

यह बात हवाओं को भी बताए रखना,
रोशनी होगी चिरागों को जलाए रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाजत हमने की,
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाए रखना.

मैं अपने देश का हरदम सम्मान करता हूँ,
यहाँ की मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे डर नहीं है अपनी मौत से,
तिरंगा बने कफ़न मेरा, यही अरमान रखता हूँ…

DeshBHakti shayari in hindi

ये बात हवाओं को भी बताये रखना,
रौशनी होगी चिरागों को भी जलाये रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाजत की हमने,
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना।

करीब मुल्क के आओ तो कोई बात बने,
बुझी मशाल को जलाओ तो कोई बात बने,
सूख गया है जो लहू शहीदों का,
उसमें अपना लहू मिलाओ तो कोई बात बने

तीन रंग का नही वस्त्र, ये ध्वज देश की शान हैं,
हर भारतीय के दिलो का स्वाभिमान हैं,
यही है गंगा, यही हैं हिमालय, यही हिन्द की जान हैं,
और तीन रंगों में रंगा हुआ ये अपना हिन्दुस्तान हैं

मैं भारतवर्ष का हरदम अमिट सम्मान करता हूँ
यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ

कोम को कबीलों में मत बाटिए,
लम्बे सफर को मीलो में मत बाटिए
ये बहता दरिया है मेरा भारत देश
इससे नदियों और झीलों में मत बाटिए।

स्वतंत्रता दिवस शायरी


खूब बहती है गंगा बहने दो
मत फैलाओ देश में दंगा रहने दो
लाल हरे में मत बांटो मुझको
छत पर मेरे एक तिरंगा रहने दो।

नशा है मुझे इस तिरंगे की आन में
बसा है मेरा दिल इस धरती की जान में
शक हो कोई मन में तो देख लेना
कल भी थे कल भी रहेंगे इसी हिंदुस्तान में

आओ झुककर सलाम करे उनको, जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है,

खुशनसीब होते है वो लोग, जिनका लहू इस देश के काम आता है।

independence day shayari

सीने में जुनून, आँखों में देशभक्ति, की चमक रखते हैं

दुश्मन की साँसें थम जाए, आवाज में वो धमक रखते हैं…!

आजादी की कभी शाम नही होने देगे, 
शहीदों की कुरबानी बदनाम नहीं होने देंगे , 
बची हो जो एक बूंद भी गरम लहू की तब तक, 
भारत माता का आचल नीलाम नहीं होने देंगे..!! 

स्वतंत्रता दिवस की शायरी

कुछ नशा तिरंगे की आन का है, 
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है, 
हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा, 
नशा ये हिंदुस्तान की शान का है.

खून से खेलेंगे होली, 
अगर वतन मुश्किल में है 
सरफ़रोशी की तमन्ना 
अब हमारे दिल में है

अन्य लेख